खसरा खतौनी ( Khasara Khatauni ) या land Recorder क्या जानते पूरा विस्तार से

0

भूलेख – BhuLekh ,हरियाणा जमाबंदी या Haryana land Recorder खसरा खतौनी ( Khasara Khatauni )या land recorderहरियाणा सरकार के द्वारा 2022 में बनाया गया बनाया गया ऑनलाइन पोर्टल है. इस ऑनलाइन पोर्टल के द्वारा कोई भी नागरिक या किसान यह पता लगा सकता है,की जमीन किस के नाम से है। और उस जमीन या जगह का मालिक कौन है। इस पोर्टल के बनाने से अभी नागरिको को तहसील के चक्कर नहीं काटने पड़ेगा मतलब की जमीन पता करने के लिए। इस लेख में आपको खसरा खतौनी ( Khasara Khatauni ) क्या है। खसरा खतौनी online process kya hai इन सभी सवालो का जवाब दिया जाएगा। इस लेख को पढ़ कर आप आसानी से खसरा खतौनी को जान पाएगे।

खसरा खतौनी ( Khasara Khatauni ) या land Recorder क्या है.

वास्तव में खसरा और खतौनी दो अलग-अलग संबंध हैं। और इन दोनों शब्दों का अलग-अलग अर्थ निकलता है.जिसे खतरे का मतलब होता है किसी जमीन का रिकॉर्ड जिससे कि हमें यह जानकारी प्राप्त होती है कि यह जमीन किसके नाम से है मतलब उस जमीन का मालिक कौन है उस जमीन का क्षेत्रफल कितना है और उस जमीन पर कौन-कौन सी फसल बोई जाती है. खतौनी का अर्थ होता है. कि वह किस व्यक्ति के पास या किसी परिवार के पास कितनी खेती की जमीन है, इन दोनों का विवरण हमें खतौनी से ही प्राप्त किया जा सकता है.हरियाणा भूलेख खसरा खतौनी की पूरी प्रक्रिया जब से ऑनलाइन हुई है। तब से आपको कहीं जाने की आवश्‍यक्‍ता नहीं पड़ती है। आप इसे अपने घर में ही बैठ कर देख सकते हैं।

Haryana Panchayati Raj Act 1994

खसरा खतौनी ( Khasara Khatauni ) या land Recorder Online Process Kya Hai

प्रत्येक राज्य की सरकारों ने अपने नागरिकों की सुविधा के लिए खसरा खतौनी को ऑनलाइन सेवा में परिवर्तित कर दिया है। जिससे कि अगर किसी भी आम आदमी को अगर थोड़ा बहुत फ़ोन या लैपटॉप का यूज करना आता है। तब बहुत ही आसानी से अपनी जमीन से जुड़ी हुई जानकारी को प्राप्त कर सकता है. और यह खसरा खतौनी आपको प्रत्येक राज्य की ऑफिशियल वेबसाइट पर उपलब्ध करवाई जाती है। जैसे हरियाणा सरकार ने अपनी ऑफिशल वेबसाइट Jamabandi.nic.in जाकर आसानी से यह जानकारी प्राप्त की जा सकती है. कि उनकी जमीन को ऑनलाइन किया गया है या नहीं किया गया है.तो कितना किया गया और किस नाम से किया गया है इन सभी जानकारी हमें प्र्त्येक राज्य की ऑफिशियल वेबसाइट उपलब्ध करवाई जाती है इससे संबंधित आपको अपनी भूमि से संबंधित दस्तावेजों को घर बैठे देख सकते हैं। राज्य की ऑफिशियल वेबसाइट पर अपने खसरा खतौनी जमाबंदी नकल को देखने के लिए किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं देना पड़ता है। क्योंकि यह सेवा राज्य की सरकारों के द्वारा फ्री में करवाई जाती है और यह ऑफिशल वेबसाइट हरियाणा सरकार की राजस्व विभाग के द्वारा लॉन्च किया गया है. जिस पर जाकर कोई भी नागरिक या व्यक्ति देश के किसी भी कोने में बैठा हुआ हो अपनी जमीन के बारे में आसानी से देख सकता है.

खसरा खतौनी (Khasra Khatauni) या land recorder के लाभ-

सरकार के द्वारा सभी नागरिकों की सुविधा के लिए ऑनलाइन पोर्टल बनाया गया. जहां से वह किसी भी शहर में बैठे हुए अपनी जमीन से जुड़ी हुई जानकारी को इस वेब पोर्टल के माध्यम से प्राप्त कर सकता है. राज्य सरकारों के द्वारा खसरा खतौनी से जुड़ी हुई यह वेब पोर्टल जारी करने से वहां के नागरिकों को बहुत ही पहुंचा लाभ हुआ है. जैसे कि हरियाणा सरकार के द्वारा रिपोर्ट जारी किया गया इसमें पोर्टल के जरिए नागरिक अपनी खतौनी देखने के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर विजिट करके सभी जानकारी ले सकता है.इस ऑनलाइन पोर्टल के शुरू होने से अब किसी नागरिक को अपने जमीन के खसरा खतौनी देखने के लिए तहसील चक्कर काटने की जरूरत नही है. और अब वह अपने घर पर बैठ कर अपनी जमीन के सभी दस्तावेज को ऑनलाइन पोर्टल पर देख सकता है.इस से उनके राज्य के नागरिको के पैसे और समय दोनों की बचत होगी।

खसरा खतौनी नाम अनुसार 2022 नाम कैसे चेक करे कि जमीन किसके नाम पर रजिस्टर है।

आप अपने राज्य की खसरा खतौनी से संबधित Jamabandi.nic.in इस वेबसाइट के माध्यम से आप कोई भी व्यक्ति जमीन के मालिक का नाम को बहुत ही आसानी से पता किया जा सकता है। इसके साथ ही आप भू अभिलेख की आधिकारिक वेब पोर्टल पर जा कर जमीन की सारी जानकारी को ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं। जमीन की जानकारी ऑनलाइन प्राप्त करने के लिए आपको निचे कुछ स्टेप दिए हुए है.जिस के माध्यम से जानकारी को प्राप्त कर सकते है। जैसे –
सबसे पहले आपको अपनी राज्य की ऑफिशल वेबसाइट जाने के लिए सबसे पहले हमको अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर कोई भी वेब ब्राउज़र ओपन करना होगा। वह पर आपको Jamabandi.nic.in लिख कर सर्च करना होगा।
इसके बाद आपको लिस्ट दिखाए देगी इसमें से अब अपना जनपद, तहसील एवं ग्राम को सेलेक्टव करना होगा।
सेलेक्ट करने के बाद आपको अब खसरा/गाटा संख्या दिखाए देगा उस पर क्लिक करके आप संख्या नंबर को फील करके खोजो पर क्लिक करे।
खोजे पर क्लिक होने के बाद आपको निचे कुछ लिस्ट दिखे देगी उस में अपना अब खसरा/गाटा संख्या चुनना होगा।
चुनाव करने के बाद अब Captcha Code वेरीफाई करना होगा।मतबलब की आपको अपनी लोकेशन व कुछ कोड दिखाए देगा।
वेरिफाई होने के बाद आपको कंटिन्यू पर क्लिक करके अब देख सकते है की जमीन किसके नाम पर है।

Bhu Naksha HR App Download कैसे करे।

यहाँ हम आपको बहुत ही आसान भाषा में Bhu naksha HR app download कैसे करे या भू नक्शा एप्स डाउनलोड कैसे करें ? इसका जवाब देने की कोशिश की जाएगी। सभी राज्यों ने खेतो व जमीन का भू नक्शा या भूलेख – BhuLekh ऑनलाइन उपलब्ध करवाया हुआ। इसके लिए राज्य का खुद ओफ्फिसिएल वेबसाइट बनाया हुआ है। जहाँ हर नागरिक अपने जमीन से सम्बंधित कागजात चेक व डाउनलोड कर सकें। कई राज्यों ने ऑनलाइन वेबसाइट के अलावा भू नक्शा निकालने के लिए एंड्राइड एप्स भी उपलब्ध भी प्रधान करता है. जिसे गूगल प्ले स्टोर से बिलकुल फ्री में आप प्राप्त कर सकेंगे।

खसरा खतौनी की ऑफिशल वेबसाइट क्या है।

हरियाणा राज्य की ओफ्फिसिल वेबसाइट Jamabandi.nic.in पर जाना होगा।

खसरा खतौनी की फीस क्या रहती है।

वैसे तो खसरा खतौनी की फीस की बात करे तो यह इतना ज्यादा नहीं पड़ती है। क्यों फीस बहुत ही काम होती है। लेकिन फिर भीं यदि किसी आवेदक को एक ही आवेदन पर पांच अलग-अलग सर्वे नंबर की खसरा-खतौनी की नकलें चाहिए तो उसे 30 के साथ ही आपको प्रत्येक सर्वे के 20-20 रुपए देना होंगे। अर्थात किसान को दस सर्वे की नकल लेने के लिए किसान को 300 रुपए चुकाने होंगे। यह बहुत ही काम फीस है।

खसरा खतौनी का हेल्पलाइन नंबर क्या है।

जिस प्रकार से किसी भी समस्या का समाधान करने के लिए एक राज्य सरकार के द्वारा या केंद्र सरकार के द्वारा हेल्पलाइन नंबर जारी किया जाता है और इस हेल्पलाइन के जरिए आप अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं उसी प्रकार से हरियाणा में हेल्प लाइन जारी किया हुआ है.हम से आपको इस हेल्प लाइन की शिकायत/सुझाव के लिए संपर्क करें 1800-180-2137 मदद से लोगों को मोबाइल पर ही उनके भूलेखों की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। जमीनों का खसरा, खतौनी और नक्शा उपलब्ध हो सकेगा। मोबाइल पर खसरा खतौनी की जानकारी के लिए किसानों का आधार नंबर और मोबाइल नंबर रजिस्टर होना जरूरी है।

खसरा खतौनी को देखने के लिए की क्या मोबाइल अप्प को जारी किआ गया है।

जिस तरह अपनी जमीन की जानकारी प्राप्त करने के लिए सभी राज्यों की अपनी अपनी ओफ्फिसिले वेबसाइट बनाई हुए है। उसी तरह से खसरा खतौनी की जानकारी प्राप्त करने के लिए मोबाइल अप्प को भी बनाया गया है.जिसे आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हो।

 

Haryana Cet Ka Syllabus Kya Hai

Print Friendly, PDF & Email
Leave A Reply

Your email address will not be published.