Haryana Cet ka Syllabus kya hai .haryana cet की exam

0

Haryana Cet मतलब common eligibility test जैसा ही हम सभी जानते है .की कुछ ही दिनों में haryana cet ka exam होने वाला है .और सभी स्टूडेंट इस टेस्ट को पास करके एक अच्छी सी नौकरी पाना चाहते है . Haryana Cet ki Tayari kaise kre,Haryana Cet ka Syllabus kya hai, Haryana Cet ke exam से कोन कोन से नौकरी मिलेगी .इसी लेख में आपको इन सभी प्रश्नों के जवाब मिल जाएगे .इसी लेख से आपको Haryana Cet ki Tayari करने में हमारे दवारा आपको जानकारी भी दी जाएगी जिसे आप पीडीऍफ़ के रूप में प्राप्त कर सकते है.haryana cet के जरिये हम आपकी नौकरी को पाने के मदद करेगे.

Haryana Cet (Common Eligibility Test ) नौकरी कोन कोन सी है .

Haryana Cet (Common Eligibility Test ) एक पास करने वाला टेस्ट है.Haryana Cet ka पेपर Hssc दवारा लिया जाने वाला एक पास है .मतलब की जैसे किसी टीचर को जॉब के लिया पहले Htet,और Ctet होता है .उसी तरह से Haryana में जॉब पाने के लिया भी आपको पहले cet को पास करना होगा. अगर किसी भी स्टूडेंट इस टेस्ट को पास नही कर पता है ,तो आने वाले समय में hssc के दवारा ली जाने नौकरी में नही बेड सकता है.इस टेस्ट के जरिये आपको केवल ग्रुप c और group d की नौकरी ही मिल सकती है . .

 मतलब की अगर hssc के दवारा अगले कुछ दिनों में group d की कोई भी नौकरी निकली जाती है .तो सबसे पहले आपको Haryana cet को पास करना जरुरी है .उसी के बाद आप group d की नौकरी के काबिल समझे जाते है .लेकिन Haryana cet को क्लियर करने के बाद group c के लिया आपको इक और उसी विभाग से संबधित पेपर देने के बाद आपको group c की जॉब को पा सकते है group d के लिया आपको कोई अलग से पेपर देने की जरूरत नही है .अगर आपके दवारा haryana cet ka पेपर क्लियर कर लिया जाता है. और सरकार के दवारा group d की मान लीजिये 15000

की नौकरी निकाली जाती है. तो आपको दबारा group.c की पेपर नही देना पड़ेगा .इसमे आपको जितनी नौकारी निकली जाती है. और जो Haryana Cet के टॉप स्टूडेंट्स को यह नौकारी मिल जाएगी .

Haryana Cet ka Syllabus kya hai है .

Haryana cet ka syllabus की बात करे हम सभी को बता है .जो पिहले कुछ सालो से hssc का कोई फिक्स syllabus नही रहा है .और यह बात हम सभी को पता है . लेकिन फिर भी haryana cet ke पेपर के syllabus को जानेगे .

  1. 1.Haryana gk ( जिसमे Haryana ka इतिहास ,जियोग्राफी ,पोलिटिकल ,इकोनॉमिक ,मेले ,फेमस व्यक्ति ,मंदिर ,etc.)
  2. 2.भारत ka इतिहास व दुनिया का इतिहास ( world history )
  3. 3 . भारत का  भूगोल व विश्व का  भूगोल
  4. 4.भारत का सविधान
  5. साइंस ( केमिस्ट्री ,बायोलॉजी ,फिजिक्स ) 
  6. हिन्दी 
  7. इंग्लिश 
  8. मैथ 
  9. रीजनिंग 
  10. कंप्यूटर 
  11. करंट आफैर्स ( haryana और भारत )
  12. इकोनॉमिक्स 
  13. 13 . एनिमल हसबेंडरी 

Etc.

अभी तक हमने Haryana Cet के बारे में जाना .आज आपको इस लेख में Haryana के पशु जनगणना के बारे में विस्तार से बताया जाएगा .जिस से हमे अपने आने वाले exam को पास करने में मदद मिलेगी .    

  hssc cet answer key

20वीं राज्य पशु जनगणना 

27 जनवरी 2019 ( पहले पशु जनगणना राजस्व विभाग के द्वारा करवाई जाती लेकिन इस बार की जनगणना डेयरी व पशुपालन विभाग के द्वारा करवाई गई है .)इसी  जनगणना में सबसे पहले बिल्लिओ को शामिल किआ गया .

इसी जनगणना में पहली बार फ़ोन और टेबलेट का इस्तेमाल किया गया है

राज्य में कुल पशुओ की संख्या –7126497 है 

 

राज्य में सबसे ज्यादा पशुओ की संख्या  –

              पहला –  हिसार (6,57,532)

               दूसरा – सिरसा  ( 5,71,924 )

              तीसरा  – जींद  ( 5 ,56,880  )

 

राज्य में सबसे कम पशु संख्या 

             पहला –  पंचकुला ( 1,05,871)

             दूसरा – फरीदाबाद  (1 ,72,343 ) 

             तीसरा-  गुरुग्राम  ( 2,08,135)

 

राज्य में सर्वाधिक भेंस वाला जिला कोन सा है .

                     पहला –  हिसार ( 4,26,486 )

                      दूसरा  – जींद  ( 3,96,305 ) 

                    कैथल – ( 2,81,888) 

sbse jtda bhensh

राज्य में सबसे कम भेंस  वाला जिला कोन सा है .

 पहला  – पंचकुला ( 57,242 )

दूसरा  – गुरुग्राम  ( 1,12,688 )

फरीदाबाद – ( 1,14,183 )

 

 राज्य में सर्वाधिक भेड़ वाला जिला कोन सा है .

पहला – भिवानी ( 34,533 )

दूसरा  – हिसार ( 33,689 )

   तीसरा –   सिरसा ( 27,888 )

 

 राज्य में सबसे कम भेड़ वाला जिला कोन सा है . 

  पहला – गुरुग्राम ( 3,207 ) 

दूसरा – फरीदाबाद  (3,721 )

पंचकुला – ( 3,960 )

 

राज्य में सर्वाधिक बकरिया वाला जिला कोन सा है .

पहला –  सिरसा ( 47,609 )

दूसरा – महेंद्रगढ़ ( 45,967)

तीसरा – भिवानी ( 32,270)

राज्य में सबसे कम बकरिया वाला जिला कोन सा है .

पहला – पानीपत ( 4,595 )

दूसरा – यमननगर ( 6043 )

तीसरा – कैथल ( 6189 )

 

राज्य में सर्वाधिक घोड़े खा पाए जाते है .

पहला – गुरुग्राम (710 )

दूसरा – करनाल ( 677 ) 

तीसरा – कैथल (587)

राज्य में सबसे कम घोड़े खा पाए जाते है .

पहला – पंचकुला ( 100 ) 

दूसरा – फरीदाबाद ( 112 ) 

तीसरा  – मेवात ( 127 ) 

 

राज्य में सर्वाधिक ऊंट वाला जिला कोन सा है .

पहला –  सिरसा (1289 ) 

दूसरा – भिवानी (1001 ) 

तीसरा – महेंद्रगढ़ ( 807 )

राज्य में सबसे कम ऊंट खा पाए जाते है .

पहला – अम्बाला , कुरुक्षेत्र, पानीपत ( 0 ) इन तीनो जिलो में कोई ऊंट नही पाया जाता है.

हरियाणा पंचायती राज १९९४ 

 राज्य में सर्वाधिक सूअर वला जिला कोन सा है .

पहला – सोनीपत ( 12399 )

दूसरा – झज्जर 

तीसरा – करनाल 

 राज्य सबसे कम सुअर खा पाए जाते है .

पहला – मेवात (701 ) 

दूसरा – महेंद्रगढ़ 

तीसरा – सिरसा 

 

राज्य में सर्वाधिक गधे खा पाए जाते है .

पहला –  पलवल ( 89 )

दूसरा –  गुरुग्राम

तीसरा –  भिवानी 

राज्य सबसे कम गधे खा पाए जाते है .

पहला -अम्बाला 

दूसरा – सोनीपत

तीसरा –  पानीपत  

 

राज्य में सर्वाधिक टटू कहा पाए जाते है .- गुरुग्राम 

राज्य में सबसे कम टटू –  पंचकुला 

 

राज्य में सर्वाधिक कुते खा पाए जाते है .

पहला – गुरुग्राम ( 8248 ) 

दूसरा – भिवानी 

तीसरा – सिरसा 

सबसे कम  कुत्ते खा पाए जाते है . – मेवात 

 

 राज्य में केवल 5 ही हाथी पाए जाते है . यमुनानगर (4 ) ,कुरुक्षेत्र(1 ) 

और  किसी भी जिले में कोई हाथी नही पाया जाता है. .

 

 सर्वाधिक खच्चर खा पाए जाते है .– झज्जर, रेवाड़ी 

 सबसे कम खच्चर खा पाए जाते है – पानीपत ( 22 ) 

 

Print Friendly, PDF & Email
Leave A Reply

Your email address will not be published.